• Thu. May 26th, 2022

TOPINFORMATIVENEWS.XYZ

Latest National, International, Mumbai & Suburbs Of Mumbai News Of Political, Sports, Share Market, Crime & Entertainment

पिछले कुछ समय से भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में कई नई अभित्रियों का आगमन हुआ है, लेकिन कई अभिनेत्रियों ने एक दो या फिर चार फिल्में की उसके बाद उनका अता पता नहीं चला । मतलब की आई गयी हो गयी । वहीँ उसी दौर में भोजपुरी जगत में एक अभिनेत्री आई प्रियंका पंडित । जिन्होंने एक छोटी सी शुरुआत करके आज के दौर में भोजपुरी फिल्मों में सबकी जरूरत बन गयी हैं ।
कुछ ही समय में करियर की शुरुआत ही सन् २०१३  में भोजपुरी फिल्म जगत के बड़े निर्देशक राजकुमार आर पांडेय के निर्देशन में बनी भोजपुरी फिल्म ‘जीना तेरी गली में’ के जरिये ही अभिनेत्री प्रियंका पंडित भी भोजपुरी इंडस्ट्री में कदम रखी थी । इस फिल्म में उनके द्वारा निभाए गए किरदार के लिए प्रियंका को सन् २०१४ में बेस्ट डेब्यू का अवार्ड भी दिया गया था ! भोजपुरी स्टार प्रदीप पांडेय चिंटू के साथ नजर आने वाली और अपनी इस पहली भोजपुरी फिल्म को लेकर वह काफी चर्चा में आई थी । अभी हाल ही में प्रियंका पंडित से मुलाकात हुई, तो फिल्म ‘दीवाने ‘ में उनके काम करने के अनुभव के साथ-साथ उनके कैरियर से जुडी कई बातों को लेकर विस्तार से बातचीत हुई। यहां पेश हैं प्रियंका पंडित के साथ हुई बातचीत के मुख्य अंश:

प्रियंका जी सबसे पहले आप अपने बारे में कुछ बताइये। मूलत: आप कहां की रहने वाली हैं?

मैं मूलत: जौनपुर उत्तर प्रदेश की रहने वाली हूं, मगर मेरा जन्म व मेरा पालन पोषण अहमदाबाद गुजरात में ही हुआ है और यही वजह है कि भोजपुरी  जहां मुझे बिल्कुल नहीं आती, वहीं गुजरती मैं बहुत अच्छी बोल लेती हूं। अहमदाबाद कॉलेज से पढाई – लिखाई पूरी की है !

क्या फिल्मों में कदम रखने की तैयारी पहले से ही थी?

नहीं मैंने तो कभी नही सोचा था की भोजपुरी फिल्मों में काम करना है पर जब डायरेक्टर का ऑफर आया तो मैंने तुरंत हाँ कर दिया । मेरे पापा मुझे डॉक्टर बनना चाहते थे पर मैं कुछ और करना चाहती थी मगर इसी बीच मेरे एक मित्र ने मेरी कुछ तस्वीरें एक गुजरती फिल्म डायरेक्टर के पास भेज दी, जहां से मुझे फोन आया और मैं टीवी के एक शो के लिए चुन ली गई। इसी दरम्यान मेरी मुलाक़ात एक भोजपुरी फिल्म के डायरेक्टर राजकुमार आर पांडेय से हुई और उनकी अगली फिल्म ”जीना तेरी गली” जिसमें बतौर अभिनेत्री मैं मुख्य भूमिका के लिए चुन ली गई। उसके बाद लगातार भोजपुरी फिल्में मिलने लगे और मैं करती गई !

और इस तरह आपने घर बार छोड़कर अभिनय की दुनिया में कदम रख दिया?

हाँ भोजपुरी फिल्म ‘”जीना तेरी गली में ” में काम करने के दौरान मिले अनुभव के बाद मैंने एक प्रोफेशन के रूप में अभिनय को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया और फिर छोटे पर्दे के लिए भी कुछ काम किया। इसी दौरान मुझे भोजपुरी फिल्म ‘विरासत’ का प्रस्ताव मिला, जो मेरे लिए एक सरप्राइज था, क्योंकि मैं भोजपुरी भाषा के बारे में कुछ नहीं जानती थी। हालांकि ‘विरासत’, एक बडी फिल्म बनने वाली थी और इसमें मुझे भोजपुरी के सुपरस्टार पवन सिंह के साथ काम करने का मौका मिल रहा था, इसलिए मैंने अपनी किस्मत भोजपुरी इंडस्ट्री में भी आजमाने  का निर्णय  लिया और आज अपने इस निर्णय से काफी खुश हूं।

Priyanka Pandit (4) Priyanka Pandit (2)

Priyanka Pandit (1) Priyanka Pandit

फिल्म ‘जो जीता  वही  सिकंदर’ में काम करने का अनुभव कैसा रहा?

इस फिल्म में काम करने का अनुभव बेहद शानदार रहा, क्योंकि फिल्म की शूटिंग के दौरान मैंने काफी एन्ज्वॉय किया। इस फिल्म की टीम एक बडे परिवार की तरह थी और इसके सभी सदस्यों ने मेरे साथ काफी अच्छा बर्ताव किया। फिल्म के हीरो खेसारी लाल यादव से लेकर निर्देशक, कैमरामैन व निर्माताओं की ओर से भी मुझे काफी मदद मिली और ये सभी लोग उत्साह से भरे हुए नजर आए। इन्होंने मुझे इस बात का एहसास ही नहीं  होने दिया कि मैं न्यू कमर हूं, बल्कि काफी प्यार-सम्मान मिला। और यह फिल्म सुपर हिट हो गई !

Priyanka Pandit (5) Priyanka Pandit (6)

Priyanka Pandit (3)

फिल्म  विलेन के बारे में कुछ बताइये?

मेरी समझ से ‘विलेन’ आज की तारीख में मेरी सभी बडी भोजपुरी फिल्मों में से एक है और इसे काफी भव्य पैमाने पर बनाया गयी थी जब आप इस फिल्म को देखेंगे तब इसके कलाकारों व भाषा को छोडकर यह कहीं से भी किसी हिंदी फिल्म से कम नजर नहीं आता है इस फिल्म में मैं भोजपुरी फिल्म अभिनेता अवधेश मिश्रा के साथ काम किया था बतौर हीरोइन जिस की शूटिंग कशमीर में की गयी थी।

आप गुजराती भी अच्छी जानती हैं, तो क्या निकट भविष्य में गुजराती फिल्म करने का भी इरादा है?

देखिए अब मैं एक कलाकार हूं और बतौर कलाकार सभी भाषा की फिल्मों में काम करना पसंद करूंगी, बशर्ते प्रस्ताव अच्छे मिलने चाहिए। मेरी समझ से भाषा किसी कलाकार के लिए कोई बंधन नहीं है, बल्कि यह सब स्क्रिप्ट व किरदार पर निर्भर करता है और निश्चित रूप से अच्छे प्रस्ताव मिलने पर मैं गुजराती  फिल्म भी  करूंगी।

‘दम’ के अलावा भोजपुरी में और कौन-कौन सी फिल्में कर रही हैं?

फिलहाल तो मैं ‘दम’ की शूटिंग पूरी कर के डायरेक्टर पराग पाटिल की फिल्म बागी इश्क़ की भी शूटिंग पूरी कर ली हूँ । अपना पूरा ध्यान अभी करियर पर कहि केंद्रित रख रही हूं और इसे लेकर काफी उत्साहित हूं। हॉल में प्रदर्शित फिल्म ”इच्छाधारी” बिहार में सुपर हिट हो गई है! आनन्द डी गहतराज की फिल्म ‘शहंशाह’ और डायरेक्टर फिरोज खान की फिल्म दीवाने मेरी आने वाली फिल्मों में शामिल है !  डायरेक्टर फिरोज खान की फिल्म  दीवाने में मैं फिर से प्रदीप पांडेय चिंटू के साथ गूंगी लड़की के किरदार में नजर आने वाली हूँ !